कंप्यूटर मेमोरी जहाँ जानकारी और निर्देशों को स्टोर किया जाता है कंप्यूटर सिस्टम में प्राइमरी मेमोरी सेकेंडरी मेमोरी और कैश मेमोरी के अतिरिक्त Register Memory भी होती है जिसके बारे में ज्यदातर लोगो को नहीं पता होता है तो आज हम What is register in computer के बारे में जानेगे। 


What is Register Memory and Types of Registers


What is Register Memory ?



कंप्यूटर सिस्टम में रजिस्टर मेमोरी साइज़ के उद्देश्य से सबसे छोटी लेकिन स्पीड में सबसे तेज़ मेमोरी होती है कंप्यूटर प्रोसेसर Register Memory को डायरेक्ट एक्सेस कर सकता है क्यूंकि रजिस्टर मेमोरी प्रोसेसर का ही पार्ट होती है। 



रजिस्टर बहुत छोटे डाटा होल्डिंग एलिमेंट होते है जो निर्देशों, मेमोरी एड्रेस और प्रोसेसर द्वारा बार बार यूज़ होने वाले डाटा को स्टोर करके रखते है सभी प्रकार का डाटा प्रोसेस होने से पहले इन्ही रजिस्टर के माध्यम से पास होता है यूजर द्वारा इंटर किये गए डाटा को प्रोसेस करने के लिए CPU रजिस्टर का इस्तेमाल करता है



रजिस्टर बहुत ही छोटे डाटा को स्टोर रख सकते है जिनकी साइज़ बिट्स (Bits) में होती है, किसी भी CPU की स्पीड उसमे उपस्तिथ रजिस्टरकी साइज़ और उनके नंबर पर निर्भर करती है



रजिस्टर कितने प्रकार के होते है ?

(Types of Register in computer)



कंप्यूटर सिस्टम में कई तरह रजिस्टर मौजूद होते है जिनकी अपनी अपनी उपयोगिता होती है लेकिन कुछ सबसे ज्यदा इस्तेमाल होने वाले Register के बारे में आप नीचे पढ़ सकते है



Memory Address Register (MAR)



मेमोरी एड्रेस रजिस्टर का इस्तेमाल मेमोरी से डाटा और निर्देशों को Fetch करना होता है जिससे CPU उन निर्देशों का पालन कर सके CPU मेमोरी एड्रेस रजिस्टर का इस्तेमाल डाटा को पढ़ने और स्टोर करने के लिए करता है MAR में एड्रेस स्टोर किये जाते है जिससे सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट उस मेमोरी लोकेशन को आसानी से एक्सेस कर पाती है


 

Memory Data Register (MDR)



मेमोरी डाटा रजिस्टर में कण्ट्रोल यूनिट का पार्ट होता है इस रजिस्टर का इस्तेमाल कंप्यूटर मेमोरी जैसे-RAM memory में स्टोर किया जाने वाला डाटा या वहां से Read किया गया डाटा स्टोर होता है MDR एक Buffer की तरह काम करता है जहाँ प्रोसेसर द्वारा इस्तेमाल होने वाले डाटा को रखा जाता है डिकोडर में जाने से पहली इनफार्मेशन मेमोरी डाटा रजिस्टर में रहती है MDR एक Two-way रजिस्टर होता है



Program Counter 



प्रोग्राम काउंटर को इंस्ट्रक्शन एड्रेस रजिस्टर (IAR) और इंस्ट्रक्शन काउंटर (IC) भी कहते है प्रोग्राम काउंटर सिस्टम में एक्सीक्यूट होने वाले Next Instruction का मेमोरी एड्रेस होल्ड रखता है और जैसे ही कर्रेंट इंस्ट्रक्शन कम्पलीट होती है प्रोसेसर PC से अलगे इंस्ट्रक्शन की लोकेशन पता कर लेता है इसकी मदद से इंस्ट्रक्शन एक एक करके एक्सीक्यूट होते रहते है



Accumulator Register



यह एक 16 Bit का रजिस्टर होता है जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर सिस्टम द्वारा Produce किये गए रिजल्ट्स को स्टोर करने के लिए किया जाता है जैसे- जब भी CPU किसी इंस्ट्रक्शन को प्रोसेस करके रिजल्ट प्रोवाइड करता है तो वो AC रजिस्टर में ही स्टोर किये जाते है



Instruction Register



इंस्ट्रक्शन रजिस्टर भी एक 16 Bit का रजिस्टर होता है CPU द्वारा जिन भी निर्देशों को एक्सीक्यूट करना होता है उन सभी Instruction Code को Main Memory से Fetch करके इसी रजिस्टर ने स्टोर करते है इसके बाद Central processing unit उन निर्देशों को IR register से पढ़ कर एक्सीक्यूट करती है



निष्कर्ष



कंप्यूटर सिस्टम में साइज़ के आधार पर कुल चार प्रकार की मेमोरी होती है जिनमे Register Memory सबसे छोटी पर बहुत तेज़ होती है इनकी साइज़ कुछ बिट्स ही होती है इनको प्रोसेसर के साथ ही बनाया जाता है इसीलिए प्रोसेसर इन्हें डायरेक्ट एक्सेस कर पाता है इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आपको Register Memory के बारे में बताया है



इनके अतिरिक्त और कई सारे रजिस्टर होते है लेकिन ये सबसे ज्यादा Use होते है मैं आशा करता हूँ आपको What is register in computer के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी।