Encryption kya hai? Meaning of encryption ? | What is Encryption in Hindi

आपका हमारी वेबसाइट technovichar में स्वागत है। आज हम बात करेंगे Encryption और Decryption तकनीक की ,क्योंकि अगर यह तकनीक ना होती तो शायद प्राइवेसी शब्द की कोई अहमियत ही नहीं होती। 



जब भी आप इंटरनेट पर कुछ सर्च करते हैं तो आपके एड्रेस बार में एक लॉक का सिग्नल बना होता है जिसका मतलब होता है यह वेबसाइट सिक्योर है और अगर आप उस वेबसाइट से कोई भी इंफॉर्मेशन सेंड करते हैं तो वह Encrypted यानी सिक्योर है। अब आप सोच रहे होंगे कि Encryption से होगा क्या ?। 


what is encryption and decryption


Page Content


Encryption kya hai ?(What is Encryption in Hindi)

what is encryption and decryption

256 bit encryption

whatsapp encryption 

what is encryption algorithm

Conclusion


Encryption kya hai ?

(What is Encryption in Hindi)


Meaning of encryption in hindi
 


Encryption वह तरीका है जिसके द्वारा सूचना को गुप्त कोड में परिवर्तित किया जाता है जो सूचना के सही अर्थ को छुपाता है |



असल में यह एक तरह का लॉक सिस्टम होता है जो आपकी पर्सनल इंफॉर्मेशन जैसे कि आपकी बैंक डिटेल,आपके मैसेजेस,आपकी फोटो आदि को सिक्योर रखता है। 



अगर आप अपनी जानकारी एक जगह से दूसरी जगह भेज रहे हैं तो आप उस मैसेज को एक चाबी से लॉक कर देते हैं और जिस रिसीवर के पास वो मैसेज पहुंचता है उसके पास भी एक चाबी होती है जिससे वह मैसेज का लॉक खुलता है और उसे पढ़ पाता है। इस तकनीक को क्रिप्टोग्राफी कहते हैं। 




जिसमें मैसेज को Encrypt और Decrypt करने के लिए दो तरह की चाबी का इस्तेमाल होता है। जिसे Public Key और Private Key कहा जाता है। असल में यह एक तरह का पासवर्ड प्रोटेक्टेड मैकेनिज्म होता है जिसे सिर्फ वही इंसान उस मैसेज को पढ़ पाएगा जिसके लिए वह मैसेज भेजा गया है । 




यहां तक कि आपके कंप्यूटर के हार्ड ड्राइव या फिर फोन में पड़ा डाटा भी Encrypted होता है जिससे हैकर आपकी इंफॉर्मेशन एक्सेस नहीं कर पाते और कोई हैकर रास्ते में उस मैसेज को पकड़ लेता है तब भी वह मैसेज को पढ़ नहीं पाएगा क्योंकि उसके पास उस मैसेज को पढ़ने के लिए जरूरी Private Key होती ही नहीं। 




जिसके बिना किसी Encrypted मैसेज को Decrypt कर पाना लगभग नामुमकिन होता है ,इस तकनीक का इस्तेमाल सबसे पहले जर्मन आर्मी ने वर्ल्ड वॉर टू में किया था। 




जर्मनी ने इलेक्ट्रॉनिक मैसेज भेजने के लिए एक मशीन बनाई ,इस मशीन के जरिए जर्मन आर्मी एनक्रिप्टेड मैसेजेस भेजती थी जिसे एलाइड फोर्सज पढ़ नहीं पाती थी लेकिन बाद में ब्रिटिश इंटेलिजेंस सर्विसेज ने एलन टयूरिंग की मदद से उन सभी मैसेजेस को पढ़ने का तरीका खोज लिया जिसके चलते जर्मन आर्मी को वर्ल्ड वॉर दो में हार का मुंह देखना पड़ा। 




आपको बता दें कि एनिग्मा द्वारा भेजे गए मैसेजेस को ब्रेक करने के लिए यह सिस्टम का इजाद किया गया था उसे ही कंप्यूटर का पहला प्रोटोटाइप कहा जाता है। 




सरकारों की मानें तो Encryption तकनीक के जहां कई फायदे हैं तो वहीं उससे कुछ नुकसान भी हैं ,जैसे अमेरिका में एसबीआई और एप्पल में छिड़ा विवाद असल में एसबीआई ,आरोपी सही फारुख के फोन को एप्पल की मदद से खोलना चाहती थी क्योंकि एप्पल के फोन में 10 बार गलत पासवर्ड डालने के बाद उस फोन में पड़ा सारा डाटा डिलीट हो जाता है लेकिन एप्पल के सीईओ टिम कुक ने यह कहते हुए एफबीआई की मदद करने से मना कर दिया कि अगर वह एफबीआई को फोन को अनलॉक करने के लिए मास्टर की देते भी हैं तो इस बात की क्या गारंटी है कि एसबीआई उस मास्टर Key का इस्तेमाल एप्पल के दूसरे फोनोंको को खोलने में नहीं करेगी। 




इससे पहले भी एसबीआई एप्पल पर यह इल्जाम लगा चुकी है कि उसकी एडवांस तकनीक के कारण वह संभावित खतरों का पता नहीं लगा पाती शायद यही कारण है कि दुनिया में ज्यादातर इल्लीगल काम करने वाले लोग एप्पल के फोन का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन एप्पल कंपनी अपने Users की प्राइवेसी का ख्याल रखती है ।  




जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी एडवांस होती जा रही है वैसे-वैसे हैकर्स के लिए भी अब डाटा चोरी कर पाना काफी नामुमकिन सा हो गया है असल में डाटा की सेफ्टी Encryption key की स्पेसिफिकेशन पर निर्भर करती है। 




Encryption Key की स्पेसिफिकेशन अगर फाइव बिट की है तो उसको तोड़ने के 32 पॉसिबल कांबिनेशंस बनते हैं जिससे कोई भी हैक कर आसानी से तोड़ सकता है ,इसी तरह 6 Bit key के 64 और 7 bit key के 128 कॉन्बिनेशन हो सकते हैं लेकिन 10 Bit की key के 1000 और 20 bit की key के एक मिलियन कॉन्बिनेशन होंगे और 30 bit की key के बिलियन कॉन्बिनेशन होंगे। 




लेकिन जरा सोचिए कि है कर के पास एक ऐसा कंप्यूटर है जो बिलियन कॉन्बिनेशन पर एक काम करता है तो hacker को 30 bit के कॉन्बिनेशन को ब्रेक करने में महज 1 सेकंड लगेगा लेकिन अगर उस हैकर का सिस्टम इतना तेज है अभी तो उसे 7-bit की Key को क्रैक  करने में 34 साल लगेंगे। किसी भी खुफिया एजेंसी के पास ऐसे कम्प्यूटर्स मौजूद होते हैं जो 7 bit की Key को ब्रेक कर सकते हैं। 




लेकिन 90 bit की key को तोड़ना बिलियन टाइम्स डिफिकल्ट होता है आज के वक्त में एंड्रॉयड हो या फिर या फिर विंडोज का कोई भी सिस्टम वह 128 bit के अल्गोरिथम पर काम करते हैं। जिसे एडवांस कहा जाता है और 128-bit के Code को तोड़ने के लिए इतने सारे कंबीनेशन चाहिए। आपका व्हाट्सएप 256-bit कि एन्क्रिप्शन key पर काम करता है। 



what is encryption and decryption



Encryption डेटा को सादे पाठ (Plaintext) में किसी ऐसी चीज़ में अनुवाद करने की प्रक्रिया है जो बेतुका और अर्थहीन (Ciphertext) हो  Decryption यानिकि एक Cipher टेक्स्ट को वापस सादे टेक्स्ट में बदलने की प्रक्रिया है। 



256 bit encryption



256-बिट एन्क्रिप्शन एक डेटा / फ़ाइल एन्क्रिप्शन विधि है जो डेटा एन्क्रिप्शन या फ़ाइलों को एन्क्रिप्ट और कनवर्ट करने के लिए 256-बिट कुंजी का उपयोग करती है।



whatsapp encryption 



whatsapp,End to End एन्क्रिप्टेड संदेशों के लिए एक मंच है। इसका मतलब यह है कि एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस पर जाने वाली बातचीत को एन्क्रिप्ट किया जाता है और इसे केवल Decrypted Plain Text में संदेश भेजने वाले और प्राप्तकर्ता द्वारा पढ़ा जा सकता है। 



Whatsapp के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन Open Whisper Systems द्वारा डिजाइन किया गया हे और यह सिग्नल प्रोटोकॉल का उपयोग करता है। यह एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन प्रोटोकॉल थर्ड-पार्टी कंपनियों को टेक्स्ट मैसेज या कॉल तक पहुंचने से रोकने के लिए बनाया गया है।



what is encryption algorithm



Encryption Algorithm एक विधि है जिसका उपयोग डेटा को Cipher Text में बदलने के लिए किया जाता है। एल्गोरिथम डेटा को अनुमानित तरीके से परिवर्तित करने के लिए एन्क्रिप्शन कुंजी का उपयोग करेगा, ताकि एन्क्रिप्टेड डेटा बेतरतीब ढंग से प्रकट होने पर भी, एन्क्रिप्शन कुंजी का उपयोग करके इसे सादे पाठ में वापस लाया जा सके।



Conclusion




हमें उम्मीद है की आपको यह Post -Encryption kya hai? | What is Encryption in Hindi पूरी तरह से समज में आया होगा और हमें यकीन है की आपको इस Article को पढ़कर काफी जानकारी भी मिली होगी.




यदि आपको हमारा यह लेख Encryption kya hai? | What is Encryption in Hindi पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. जिससे वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और यह जान सके.




अगर आप Encryption जैसे ओर Topic के बारेमे जानना चाहते है तो Notification Allow जरूर करदे। ताकि ऐसी Information आपको Daily मिलती रहे।

Post a Comment

0 Comments