Operating System और उसके प्रकार (Types of Operating System) | What is OS in Hindi

आपका हमारी वेबसाइट Technovichar में स्वागत है। इस लेख में हम Operating System और उसके प्रकार (Types of Operating System) के बारेमे जानने वाले है। तो चलिए जानते है की OS (Operating System) क्या है ??


What is Operating System and Types of OS in Hindi


Article Content


Operating System kya hai ??(OS in Hindi)

Histroy of Operating System

Task of Operating System (ऑपरेटिंग सिस्टम क्या काम करता है ?)

Types of Operating System

Role of ऑपरेटिंग सिस्टम 

Conclusion


Operating System kya hai ??

(OS in Hindi)


Definition of OS 


Operating System , एक सॉफ्टवेयर Collection है जो Hardware Resources को Manage करता है तथा User को Different Different Services प्रदान करता है। 


Hardware Part जैसे की RAM , Processor , Keyboard , Mouse , Hard Disk , Monitor , Printer , etc को Manage करने का काम Operating System करता है। 



Example of OS 


  • Windows
  • Android
  • iOS
  • Mac OS
  • Linux 
  • Chrome OS
  • Windows Phone OS

 


Operating System का स्थान कहा पर होता है ??



Operating System , Hardware और User Program के बिच में होता है। हमारा Computer आम तोर पर दो Mode में चलता है। पहला है Kernel Mode और दूसरा है User Mode। 



Kernel Mode में सभी हार्डवेयर को Complete Resources दिए जाते है। और कोई भी Instruction को Execute करने के लिए Machine Capable है। और User Mode में , Hardware को कुछ Limited Access दिए जाते है। जिसमे Machine , Limited Instruction को Execute कर सकता है। 



Histroy of Operating System 



First Generation के Operating System (कंप्यूटर) 1945 से ले कर 1955 तक चले थे। जिसमे Vacuum Tubes और Plug Board का Use होता था। 



Second Generation के Operating System(कंप्यूटर) 1955 से ले कर 1965 तक चले थे। इस सिस्टम में ट्रांजिस्टर का उपयोग किया गया था। और प्रोसेसिंग के लिए Batch OS का उपयोग किया जाता था। 



Third Generation के Operating System (कंप्यूटर) 1965 से ले कर 1980 तक चले। इस सिस्टम में ट्रांजिस्टर की जगह पर IC - Integrated Circuit का Use किया जाता था। यह Operating System , Multiprogramming फीचर भी Provide करता था। 



Fourth Generation के ऑपरेटिंग सिस्टम(कंप्यूटर) 1980 से ले कर अब तक उपलभ्द है। जिसमे LSI (Large Scale Integration) सर्किट का Use होता है। इस Circuit की Chip में एक हजार से भी ज्यादा ट्रांजिस्टर होते है। 



Task of Operating System 

(ऑपरेटिंग सिस्टम क्या काम करता है ?)



1) Program को Develop करने के लिए : 



यह प्रोग्राम को Develop करने के लिए Editor तथा Debuggers प्रदान करता है। जिससे Programmer आसानी से प्रोग्राम को Develop कर सकता है। 



2) Program को Execute करवाना 



प्रोग्राम को Execute करने के लिए दो Step होते है 



1) Instruction तथा Data को Main Memory में Load करना। 


2) Input - Output डिवाइस तथा Files को Initialize करना। 



OS यह दोनों Task को Handle करता है। 



3) Resource को Allocate करना 



Computer में Running Program को Input-Output की आवस्यकता होती है। जैसे की Files और IO Device। OS ,यह Program के लिए Different Different Resource को Allocate करता है। 



4) Files Access को Control करना 



OS , User के Role के मुताबिक Files की Access / Permission देता है। जैसे की कुछ User File को Read कर सकते है , Main /root User File को Read , Write तथा Execute भी कर सकता है। 



5) Memory को Manage करना 



OS , प्रोग्राम के लिए Memory Allocation और प्रोग्राम ख़तम होने पर Deallocation का काम भी करता है। 



6) System Security और Protection 



ऑपरेटिंग सिस्टम , Authenticate User को ही System के लिए Allow करता है। जिससे System की सिक्योरिटी और बढ़ जाती है। 



7) Communication 



Multitasking Environment के लिए Processes का आपस में Information को Share करना आवश्यक है यह सुविधा Operating System Provide करता है। 



8) Error Detect करना 



Operating System , Hardware जैसे की CPU , IO Device याफिर मेमोरी हार्डवेयर में आने वाली Error को Handle करता है। और User को उसका Response देता है। 



Types of Operating System 



1) Mainframe Operating System 



Mainframe OS वाले Computer की Size एक Room के बराबर थी। जिसमे Batch OS , Transaction Processing , और Time Sharing जैसी Different Different Services थी।  Ex : OS/390 , OS/360 


Batch OS , कोई एक Particular Task ही Perform कर सकता था। 


Transaction Processing , एक साथ कई Small Processes को Handle कर सकता है।


Time Sharing : Time Sharing से कई Users एक ही Time पर कई Job Execute कर सकते है। 



2) Server Operating System 



Server पर जिस भी PC में Operating System रन होता है उसकी Size बड़ी होती है। यह OS , Multiple Users को Hardware तथा सॉफ्टवेयर Resources को Share करने की Permission देता है। जिसमे Services जैसे की Printer , File Services , Web Services भी शामिल है।

 


Ex : Solaris , Linux , FreeBSD 



3) Multiprocessor Operating System 



जिस कंप्यूटर में दो या उससे ज्यादा CPU होते है उसे Multiprocessor Operating सिस्टम या Parallel कम्प्यूटर्स या मल्टीकम्प्युटर कहा जाता है। 


Ex : Windows , Linux 



4) Personal Computer Operating System 



यह Operating System , Personal कम्प्यूटर्स / PC में Install किया जाता है। यह OS , Single User को काफी अच्छा Support Provide करता है। 



Ex : Windows vista, Linux 



5) Embedded Operating System 



इस Operating सिस्टम को ATM , Printers , Calculators , Washing Machine में Install किया जाता है। यह OS किसी भी New Software या User Install Software को Accept नहीं करता। 



Ex : QNX , VxWorks 



6) Real Time Operating System 



इस OS में Time , Key Parameter होता है। यानिकि इस OS में Time को ज्यादा महत्व दिया जाता है। इसमें Processing , Time के अनुशार होती है नहीं तो यह System Fail हो जाता है। 



Real Time Operating System के प्रकार 



Hard Real Time OS 

Soft Real Time OS 


Ex : e-Cos



7) Smart Card Operating System 



यह Smallest Operating System है जो Smart Card में Run होता है। जैसे की Credit Card 



इस OS में Limited Processing Power होता है। 



यह Smart Card , Java Oriented होता है। Smart Card की ROM में  JVM का Interpreter होता है। 



8) Handhelds Computer Operating System 



Handheld Computer Operating System की जिसे Personal Digital Assistant भी कहा जाता है। यह Pocket में Fit आ जाये ऐसा एक Small Computer होता है। जो Computer की तरह ही User को Different Services Provide करता है। 



Role of ऑपरेटिंग सिस्टम 


  • Extended मशीन 


Resource Manager : 


  • जैसे की Time Sharing 
  • Allocate Resources 
  • Space Sharing और Multiplexing 



Conclusion 



हमें उम्मीद है की आपको यह Post - Operating System और उसके प्रकार (Types of Operating System) | What is OS in Hindi पूरी तरह से समज में आया होगा और हमें यकीन है की आपको इस Article को पढ़कर काफी जानकारी भी मिली होगी.



यदि आपको हमारा यह लेख Operating System और उसके प्रकार (Types of Operating System) | What is OS in Hindi पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. जिससे वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और यह जान सके.



अगर आप Operating System जैसे ओर Topic के बारेमे जानना चाहते है तो Notification Allow जरूर करदे। ताकि ऐसी Information आपको Daily मिलती रहे।



Also Read This

Post a Comment

0 Comments