HTTP kya hai ? | What is HTTP in Hindi

आपका हमारी वेबसाइट Technovichar में स्वागत है। इस Article में हम HTTP यानिकि Hyper Text Transfer Protocol के बारेमे जानने वाले है। हम देखेंगे की आखिर HTTP होता क्या है ,HTTP Connection के प्रकार और HTTP Message के फॉर्मेट। तो चलिए जानते है की HTTP kya hai ? 


HTTP(Hyper_Text_Transfer_Protocol)_kya_hai


Article Content


HTTP kya hai ??(What is HTTP in Hindi)

HTTP Connection के प्रकार 

HTTP Message Format 

HTTP Response Status Code 

Conclusion


HTTP kya hai ??

(What is HTTP in Hindi)



HTTP का Full Form Hyper Text Transfer Protocol है। जो एक Application Layer का प्रोटोकॉल है। अब आपको यह Question होता होगा की आखिर Application Layer क्या है ?। तो बतादे की Application Layer , OSI Model का एक Layer है। आसान शब्दो में  HTTP एक Protocol है जो कई Services को Fulfil करता है यानिकि Message / डाटा को Network में Exchange करने का काम करता है। HTTP ,Stateless प्रोटोकॉल है। 



Stateless का मतलब : इसका मतलब यह है की जबभी Client कोई Request करता है तो Server उसे Fulfill करता है। पर Server ,Client ने Past में क्या Request किया था उसकी कोई Information अपने पास नहीं रखता है। 



HTTP दो तरह के Programs को Implement करता है। 



1) Client Program 

2) Server Program 


 

Client क्या है ?


Browser जो Request करता है और Receive Data को Display करता है उसे Client याफिर HTTP Client कहा जाता है। 


Ex : PC , Mobile , टेबलेट


Server क्या है ?


जो Browser की Request को Fulfil करता है और Client को Response भेजता है उसे Server कहा जाता है। 


Ex : Apache Web Server 



Client Server Program कैसे काम करते है ?



Client और Server के बिच TCP Connection बनता है जिसमे Port Number 80 होता है। और Server यह Connection को Accept करता है। इस प्रकार से Client और Server Work करते है। 



HTTP Connection के प्रकार 


HTTP Connection के दो प्रकार है। 


1) Non Persistent HTTP Connection 

2) Persistent HTTP Connection



Non Persistent HTTP Connection क्या है ?



Client - Server Communication में Client , Server को Request करता है और Server उस Request के बदले Response भेजता है। पर Non Persistent HTTP Connection में एक बार Server , Client को Response भेज दे उसके बाद Connection Close हो जाता है। 



यानिकि इस Connection में Total एक Request और एक Response होते है। Multiple फाइल्स को Download करने के लिए Multiple Request की आवस्यकता होती है। 



Non Persistent Connection में Default Mode होता है HTTP/1.0



RTT (Round Trip Time) क्या है ?



एक Packet को Client से Server तक पहुंचने में जो Time लगता है उसे RTT (Round Trip Time) कहते है। 



HTTP Response Time क्या है ?



HTTP Response Time यानिकि File Transfer करने में जो Time लगता है उसे HTTP Response Time कहते है। 



Non Persistent HTTP Connection में Response Time कितना होता है ??



Non Persistent HTTP Connection में 2RTT (2 Time Packet ट्रांसफर) और File Transfer Time का Addition जितना Time लगता है। 



Persistent HTTP Connection क्या है ?



Persistent HTTP Connection में Server और Client के बिच Communication हो जाने के बाद भी TCP Connection Open रहता है। और यह Connection तभी Close होता है जब कुछ Certain Time तक उसका Use नहीं होता। 


Persistent Connection में Default Mode होता है HTTP/1.1 



HTTP Message Format 



HTTP Connection में दो प्रकार के Message Format होते है। 


1) Request Message 

2) Response Message 



HTTP Request Message क्या है ??



HTTP Request Message , ASCII Format में होता है जिसे कोई भी Easily Read कर सकता है। 


HTTP Request Message के 3 Part है। 



Request Line



इस Line में Total 3 Field होती है। 



1) Method (GET/DELETE/HEAD/PUT/POST)



2) URL (इस Field में जो Request किया है उसका Data होता है।)



3) HTTP Version (इसमें HTTP के Version को Display किया जाता है।)



Header Line : 



इस Line में Host ,User Agent,Connection ,etc की Details होती है। 



Carriage Line : 


यह Line HTTP Request Message के Last में होती है। 



HTTP Response Message क्या है ??



HTTP Response Message यानिकि जिसमे Client की Request का Response होता है। जिसमे 3 Part होते है। 



1 ) Status Line : यह Line Status Indicate करती है। Ex : 200 OK

 

2 ) Header Line :  इस Line में Date ,Server ,Content Type ,Content Length etc की Details होती है।

 

3 ) Data Line : Data Line में Client द्वारा Requested Data का Response होता है। Ex : File , HTML Document 



HTTP Response Status Code 


Status Code Responses
100Continue
101 Switching Protocols
102 Processing
200 OK
201 Created
202 Accepted
203 Non-authoritative Information
204 No-Content
205 Reset-Content
206 Partial-Content
207 Multi-Status
208 Already-Reported
226 IM Used
300 Multiple Choices
301 Moved Permanently
302 Found
303 See Other
304 Not Modified
305 Use Proxy
307 Temporary Redirect
308 Permanent Redirect
400 Bad Request
401 Unauthorized
402 Payment Required
403 Forbidden
404 Not Found
405 Method Not Allowed
406 Not Acceptable
407 Proxy Authentication Required
408 Request Timeout
409 Conflict
410 Gone
411 Length Required
412 Precondition Failed
413 Payload Too Large
414 Request-URI Too Long
415 Unsupported Media Type
416 Requested Range Not Satisfiable
417 Expectation Failed
418 I'm a teapot
421 Misdirected Request
422 Unprocessable Entity
423 Locked
424 Failed Dependency
426 Upgrade Required
428 Precondition Required
429 Too Many Requests
431 Request Header Fields Too Large
444 Connection Closed Without Response
451 Unavailable For Legal Reasons
499 Client Closed Request
500 Internal Server Error
501 Not Implemented
502 Bad Gateway
503 Service Unavailable
504 Gateway Timeout
505 HTTP Version Not Supported
506 Variant Also Negotiates
507 Insufficient Storage
508 Loop Detected
510 Not Extended
511 Network Authentication Required
599 Network Connect Timeout Error



Conclusion 



हमें उम्मीद है की आपको यह Post - HTTP kya hai ? | What is HTTP in Hindi पूरी तरह से समज में आया होगा और हमें यकीन है की आपको इस Article को पढ़कर काफी जानकारी भी मिली होगी.



यदि आपको हमारा यह लेख HTTP kya hai ? | What is HTTP in Hindi पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. जिससे वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और यह जान सके.



अगर आप Hyper Text Transfer Protocol जैसे ओर Topic के बारेमे जानना चाहते है तो Notification Allow जरूर करदे। ताकि ऐसी Information आपको Daily मिलती रहे।



Also Read This

Post a Comment

0 Comments