Virtual Memory kya hai ? | What is Virtual Memory in Hindi

Technovichar.com में आपका स्वागत है। इस पोस्ट में हम देखेंगे कि Virtual Memory kya hai ? यह कैसे काम करता है ? | What is Virtual Memory in Hindi। अगर आपने पहले Memory के बारेमे सुना है तो "Virtual Memory" के बारेमे भी सुना होगा। पर इस वर्चुअल शब्द क्या आप जाते है ?? अगर नहीं तो इस Article में इसी टॉपिक के बारेमे जानने वाले है तो चलिए शुरू करते है....


What is Virtual Memory and How Virtual Memory Works in Hindi


Page Content


Virtual Memory kya hai ??(What is Virtual Memory in Hindi)

Virtual Memory कैसे काम करती है ??

Virtual Memory के फायदे

Virtual Memory का नुकसान

डिमांड पेजिंग क्या है ?

Virtual Memory और रैम के बीच अंतर

Conclusion


Virtual Memory kya hai ??

(What is Virtual Memory in Hindi)



हम जानते हैं कि सभी प्रोग्राम और टास्क कंप्यूटर RAM पर किए जाते हैं, लेकिन कभी-कभी हम मल्टीग्रोमैगिंग और मल्टीपल टास्क को एक ही समय में उपयोग करते हैं ऐसेमे  कंप्यूटर रैम फुल हो जाता है या ओवरलोड हो जाएगा ।  इस स्थिति में आगेका  टास्क या प्रोग्राम  नहीं किया जाएगा , ऐसी Condition में हम Virtual Memory का उपयोग करते है । 



Virtual Memory एक हार्डवेयर डिवाइस नहीं है, लेकिन इसे हार्ड डिस्क या सेकेंडरी मेमोरी में विकसित किया गया है, जो कुछ सॉफ्टवेयर Mechanism  का उपयोग करता है, यह कंप्यूटर RAM की तरह काम करता है। 



जब RAM पूर्ण हो जाती है, तो बैकग्राउंड प्रोसेस या टास्क इस Virtual Memory में जाता है और जब आप प्रदर्शन करना चाहते हैं वह कार्य या प्रक्रिया  यह वर्चुअल मेमोरी से RAM में ट्रांसफर होता है। 



Virtual Memory RAM की तरह काम करती है लेकिन यह हार्डवेयर चिप नहीं है। रैम बहुत महंगा और आकार में छोटा है ताकि उपयोगकर्ता इसे अपडेट नहीं कर सकता है या इस स्थिति में इसे बदल नहीं सकता है Virtual Memory बहुत उपयोगी है।



Virtual Memory वर्किंग में, बड़े आकार की प्रक्रिया को लोड करें फिर एक बड़ी प्रक्रिया को लोड करने के बजाय मुख्य मेमोरी में उपलब्ध है, ऑपरेटिंग सिस्टम इस प्रक्रिया के विभिन्न भाग को मुख्य मेमोरी में लोड करता है इस Multiprogramming की डिग्री बढ़ जाएगी और सीपीयू उपयोग में भी वृद्धि होगी।



Virtual Memory कैसे काम करती है ??



Virtual Memory वर्किंग में, फर्स्ट वन बिग प्रोसेस को कई पेजों में विभाजित किया जाता है और इस पेज को सेकेंडरी मेमोरी में डाल दिया जाता है। अब जब सीपीयू प्रोसेस एक्सेक्यूट करता  है तो अगर सीपीयू को उनके पेज की आवश्यकता होती है तो यह पेज का एड्रेस Main मेमोरी (रैम) में होता है । (होल प्रोसेस लोड नहीं होता है RAM में लेकिन आवश्यक पेज लोड किया जाएगा)।



Ex: अगर Q1, Q2 और Q3.जैसी 3 प्रक्रियाएँ हैं, ऐसे में  RAM पूर्ण है या इसका Size RAM से बड़ा है तो ऑपरेटिंग सिस्टम इस प्रक्रिया को Pages में विभाजित कर देता है । यह पृष्ठ द्वितीयक मेमोरी में संग्रहित है।



Q1 (Q1 के पृष्ठ) -> (Q0, Q1, Q2, Q3 ....)

Q2 (Q2 के पृष्ठ) -> (Q0, Q1, Q2, Q3 ....)

Q3 (Q3 के पृष्ठ) -> (Q0, Q1, Q2, Q3 ....)



और RAM में इस Pages का कुछ विशिष्ट पता है कि यह हार्ड डिस्क / सेकेंडरी मेमोरी से आसानी से Transfer कर सकता है। इस अवधारणा का उपयोग करके हम आसानी से RAM Size की आवश्यकता को पूरा कर सकते हैं।



Virtual Memory के फायदे



  • सीपीयू उपयोग और मल्टीप्रोग्रामिंग की डिग्री बढ़ेगी।
  • कम रैम के साथ यूजर लार्ज एप्लीकेशन RUN कर सकता है।।
  • रैम को अपडेट करने या बदलने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • RAM बहुत महंगा डिवाइस है जिससे Virtual Memory बहुत मददगार है।
  • प्रोग्रामर वर्चुअल मेमोरी का उपयोग करके बहुत बड़े प्रोग्राम को चला सकता है।



Virtual Memory का नुकसान



  • कुछ हार्ड डिस्क स्पेस का उपयोग Virtual Memory द्वारा किया जाता है
  • निष्पादन में धीमा
  • एप्लिकेशन के बीच स्विच करने में कुछ समय लगता है




डिमांड पेजिंग क्या है ?



डिमांड पेजिंग का मतलब है कि पेज को सेकेंडरी मेमोरी में स्टोर किया जाता है और इसे डिमांड होने पर इसे मेन मेमोरी में लोड किया जाएगा।



OS में इस पृष्ठ की कोई Copy नहीं है जो कि द्वितीयक मेमोरी में है या जिसे मुख्य मेमोरी में लोड किया गया है। Main मेमोरी में Request किए गए Pages को लोड किया जाता है। 



Virtual Memory और रैम के बीच अंतर



  • Virtual Memory एक हार्डवेयर या हार्डवेयर चिप नहीं है। यह सॉफ्टवेयर का Mechanism है।

  • RAM एक Hardware है।

  • Virtual Memory का उपयोग तब किया जाता है जब RAM पूर्ण होती है या जब एकाधिक प्रोग्राम RAM में निष्पादित होता है या जब कुछ प्रक्रिया का आकार RAM से बड़ा होता है।

  • RAM का उपयोग Computer में  Program / Process Execute करने  के लिए किया जाता है।

  • RAM बहुत महंगा डिवाइस है ताकि Virtual Memory का उपयोग 'RAM' के रूप में किया जाता है ।



Conclusion



हमें उम्मीद है की आपको यह Post - Virtual Memory kya hai ? यह कैसे काम करता है ? | What is Virtual Memory in Hindi पूरी तरह से समज में आया होगा और हमें यकीन है की आपको इस Article को पढ़कर काफी जानकारी भी मिली होगी.



यदि आपको हमारा यह लेख Virtual Memory kya hai ? यह कैसे काम करता है ? | What is Virtual Memory in Hindi पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. जिससे वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और यह जान सके.



अगर आप Virtual Memory जैसे ओर Topic के बारेमे जानना चाहते है तो Notification Allow जरूर करदे। ताकि ऐसी Information आपको Daily मिलती रहे।
 


Also Read This

Post a Comment

0 Comments