Multiprogramming और Multitasking ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ? | Difference Between Multiprogramming and Multitasking OS in Hindi

आपका Technovichar.com में स्वागत है। इस आर्टिकल का टॉपिक है Multiprogramming और Multitasking ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ??और उसके बिच में क्या Difference होता है यह जानने वाले है। वैसे तो ऑपरेटिंग सिस्टम के बहुत से प्रकार होते है जैसे की Batch OS , Multitasking,Multiprogramming,Realtime, Distributed,Clustered, और Embedded। पर इन सबमे से हम Multitasking और Multiprogramming के बारेमे आपको बताने वाले है तो चलिए शुरू करते है....


Page Content


Multiprogramming Operating system क्या है ??

Multiprogramming OS काम कैसे करता है ??

Example of Multiprogramming ऑपरेटिंग सिस्टम Working

Multiprogramming OS का Use कहा होता है ??

Multiprogramming OS के फायदे ??

Multiprogramming OS के नुकशान ??

Multitasking OS kya hai?

मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम के फायदे ?

Difference Between Multiprogramming and Multitasking in OS Hindi

Conclusion



Multiprogramming Operating system क्या है ??


डेफिनेशन : 


Multiprogramming OS में CPU एक साथ बहुत सारी Process को Execute करता है। यानिकि CPU का जो Processor होता है वो इन सब Processes के बिच में Share होता है। Multiprogramming से CPU utilization बढ़ता है क्योकि CPU को हमेसा कोई एक Process को Execute करना पड़ता है। 



Multiprogramming OS काम कैसे करता है ??



Multiprogramming Operating system में , सिस्टम एक साथ बहुत सारी Processes को Memory में लता है। और उन Process को एक के बाद एक ऐसे Execute करना Start करता है। अगर ऐसे में कोई Process कुछ समय के लिए Block होती  है तो CPU दूसरी  Process को रन करता है। ऐसे में CPU idle State में नहीं आता और Processes को Execute करने में Busy रहता है। तो ऐसे मल्टीप्रोग्रम्मिंग से CPU और Primary Memory (RAM) utilization का issue कुछ हद तक Solve होता है। 



What_is_Multiprogramming_OS_in_Hindi



Example of Multiprogramming ऑपरेटिंग सिस्टम Working 



अगर किसी Processes को Input Out Resources की जरूरत है तो CPU उसे interrupt कर देगा और दूसरा Process को जो की Waiting Queue में पड़ा है उसे Execute करेगा। इस प्रकार से Multiprogramming OS Work करता है। 



Multiprogramming OS का Use कहा होता है ??


  • Windows Operating सिस्टम में Multiprogramming का उपयोग होता है।  
  • Unix OS में भी इसका Use होता है। 
  • Microcomputers में भी इस type की Operating System का Use अक्सर होता है। 



Multiprogramming OS के फायदे ??



  • Multiprogramming ऑपरेटिंग सिस्टम में CPU utilization बढ़ता है जिससे CPU कभी भी idle नहीं रहता। 

  • इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम में Response Time बहुत ही कम होता है। 

  • बहुत सारे यूजर मल्टीप्रोग्रम्मिंग सिस्टम को एक साथ Use कर सकते है। 

  • मल्टीप्रोग्रम्मिंग ऑपरेटिंग सिस्टम से Computer का  Throughput बढ़ता है।



Multiprogramming OS के नुकशान ??



  • Multiprogramming OS के लिए CPU Scheduling की आवश्यकता पड़ती है।

  • सभी प्रकार की Processes , Main Memory में Store होती है इस लिए Memory Management करना जरुरी बन जाता है। 

  • Processes और Jobs को Manage करना बहुत ही कठिन है। इसका Mechanism Complex होता है।



Multitasking OS kya hai ?



डेफिनेशन : 



Multitasking ऑपरेटिंग सिस्टम का मतलब यह होता है की , CPU Processes के बिच Switching करके Multiple Processes/Task Execute करता है। Multitasking ऑपरेटिंग सिस्टम को Time Sharing System भी कहते है। 



जैसे की Modern Computer में MS Word , Google Chrome , Music एक साथ Multitasking प्रॉपर्टीज के कारण ही Run होते है। क्योकि इन सब Processes के बिच CPU Switching करता है। कुछ टाइम तक एक फिर दूसरी फिर पहली फिर दूसरी ऐसे करते करते सारी Processes Execute होती है। 



Multitasking सिस्टम काम कैसे करता है ??



मान लीजिये की CPU में total 4 Process (A1,A2,A3,A4) है। उस Processes को 3 ns जितना time Quantum Assign किया जाता है। सबसे पहले A1 प्रोसेस Execute होगी (3 ns तक)। बादमे A2 Execute होगी।इस प्रकार से Time Share करके एक के बाद Process Execute होगी। 



What_is_Multitasking_OS_in_Hindi




मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम के फायदे ??



  • यह एक साथ कई User के Task को Handle कर सकता है।
  • Multitasking OS में Memory का अच्छी तरह से Management किया होता है। 
  • Computer के कई Resources जैसे की RAM, Processors, Gaming Console ,Input /output Device को Multitasking Os के द्वारा Manage किया जाता है।  
  • यह Operating system , Smoothly run होता है चाहे User एक Process Execute करे या एक से ज्यादा। 

 


Difference Between Multiprogramming and Multitasking in OS Hindi

(Multiprogramming और Multitasking में क्या अंतर है ?)




Multiprogramming Multitasking
Multiprogramming सिस्टम में Single प्रोसेसर में एक साथ एक समय पर Multiple process Execute होती है। Multitasking सिस्टम में Multiple Task के बिच CPU Switching होती है और process Execute होती है।
इस प्रकार की ऑपरेटिंग सिस्टम में Processes के बिच Context Switching होती है। इस प्रकार की Operating system में Processes के बिच Time Sharing होती है।
यह Processes को Execute करने में ज्यादा time लेता है। यह Task/Processes को Execute करने में कम time लेता है।
इस System का मुख्य हेतु CPU को ज्यादा से ज्यादा Processes दे कर उसका Utilization time बढ़ाना है। इस System का मुख्य हेतु Multiple Task को time Sharing करके कम से कम समय में Execute करना है।
Multiprogramming में एक ही process एक time पे Execute होती है। Multitasking में एक time पे एक से ज्यादा Processes Execute होती है।
मल्टीप्रोग्रम्मिंग OS का Throughput Multitasking से कम होता है। मल्टीटास्किंग OS का Throughput मल्टीप्रोग्रम्मिंग से ज्यादा होता है।


Conclusion 



हमें उम्मीद है की आपको यह Post - Multiprogramming और Multitasking ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ? | Difference Between Multiprogramming and Multitasking OS in Hindi पूरी तरह से समज में आया होगा और हमें यकीन है की आपको इस Article को पढ़कर काफी जानकारी भी मिली होगी.



यदि आपको हमारा यह लेख Multiprogramming और Multitasking ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ? | Difference Between Multiprogramming and Multitasking OS in Hindi पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. जिससे वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और यह जान सके.



अगर आप Multiprogramming vs Multitasking जैसे ओर Topic के बारेमे जानना चाहते है तो Notification Allow जरूर करदे। ताकि ऐसी Tips and Tricks आपको Daily मिलती रहे। 

Post a Comment

0 Comments