Internet Protocol क्या है? | What is Internet Protocol in Hindi

आपका हमारी Website Technovichar में स्वागत है। इस लेख में हम Internet Protocol के बारेमे जानने वाले है। आपने अपने रोज-बरोज के जीवन में IP Address , Protocols , जैसे Word तो सुने ही होंगे। पर क्या आप जानते है की IP यानिकि Internet Protocol क्या है ?? यदि नहीं तो इस Article को Read करने के बार आपको IP - Internet Protocol और उससे Related सभी चीजों की जानकारी मिलेगी। तो चलिए जानते है की IP - Internet Protocol क्या है ??




Page Content


Internet Protocol (IP) क्या है?(What is Internet Protocol in Hindi)

IP ​​Routing कैसे काम करता है?(How IP Routing Work in Hindi)

IP Packets क्या है ?(What is IP Packets in Hindi)

IP Address क्या है?

Differences between IPv4 and IPv6 in Hindi 

Conclusion



Internet Protocol (IP) क्या है?

(What is Internet Protocol in Hindi)


Internet Protocol (आईपी) वह Method या Protocol है जिसके द्वारा Data एक Computer से दूसरे Computer पर Internet के माध्यम से Transfer किया जाता है। यहाँ पर हरेक Computer को Host कहा जाता है और इसमें हरेक Device का एक Unique IP Address होता है। जो उस Device की एक Unique Identity है।  



Ex : जबभी हम किसी को कूरियर करते है तो उसमे Sender और Receiver की Details होती है। ठीक उसी प्रकार Internet Protocol का Use करके सारे Device Network में एक दूसरे के साथ Communicate करते है। और यह Communication , Protocols यानिकि कुछ नियमों के दायरे में रह कर किया जाता है। जब IP (Internet Protocol) की खोज नहीं हुए थी तब Device को आपस में Communication नहीं कर सकते थे। 



यानिकि अगर कोई A Company है तो वह Company के device Company B के device के साथ Communicate नहीं कर सकते है। और फिर IP की खोज के बाद यह Problem Solve हुआ। इसका तातपर्य यह है की यह Protocol कोई Specific Platform के लिए नहीं बल्कि Network से जुड़ने वाले सभी device के लिए लागु होते है। 



IP - Internet Protocol ​​, Protocols का एक समूह है जो आज के Internet को Modern बनाता है। इसे पहली बार MAY 1974 में "A Protocol for Packet Network Intercommunication" नामक एक पेपर में Publish किया गया था, जिसे Institute of Electrical and Electronics Engineers द्वारा प्रकाशित किया गया था और Vinton Cerf और Robert Kahn द्वारा लिखा गया था।



Internet Protocol को आमतौर पर IP कहा जाता है उसका सार केवल Transport Protocols हैं जो Different HOST के बीच Communication बनाते हैं। IP ​​​​के प्रमुख Protocol में से एक Transmission Control Protocol (TCP) है, यही वजह है की IP को अक्सर TCP / IP भी कहा जाता है। हालांकि, TCP एकमात्र Protocol नहीं है जो IP का हिस्सा है।



IP ​​Routing कैसे काम करता है?

(How IP Routing Work in Hindi)



जब Data Send या Receive किया जाता  है - जैसे Email या Webpage - तब Message Packets में Divide होता है। प्रत्येक Packet में Sender का Internet Address और Receiver का Address ,दोनों होता है। किसी भी Packet को सबसे पहले Gateway पर भेजा जाता है जो Internet के Small Part को समझता है। 



Gateway Computer Destination Address को पढ़ता है और Packet को निकटतम Gateway तक भेजता है जो Destination Address को लगातार तब तक पढ़ता है जब तक कि Gateway यह पता नहीं लगा लेता कि Packet उसके Immediate Neighborhood - या Domain के भीतर एक Computer का है। मतलब की यह Destination को Find करता है। वह Gateway ,Packets को सीधे अपने Direct एड्रेस वाले Device तक पहुंचाता है। 



क्योंकि Message कई Packets में Divide होता है, प्रत्येक Packets, यदि आवश्यक हो तो एक Different Route से भेजा जा सकता है। Packets , Set किए गए Order से Different Order में जा  सकते हैं।  यह एक और प्रक्रिया है - TCP - Transmission Control Protocol - इसे ठीक से Right Order में रखने के लिए Use होता है। 



IP Packets क्या है ?

(What is IP Packets in Hindi)



जबकि IP , Internet पर Move होने वाले Data के लिए Protocol को Define करता है इसमें जो Unit है जिसमे Data Internet पर Actual Move करता है उसे IP Packers कहा जाता है  ।



एक IP packet envelope को Header कहा जाता है। header Packets , Packets को Destination तक ले जाने के लिए आवश्यक जानकारी प्रदान करता है। IP ​​​​Packet Header 24 Bytes तक लंबा है और इसमें Source IP address, Destination IP address और Size ऑफ़ Packet के बारे में जानकारी होती है। 



एक IP Packet का एक अन्य प्रमुख घटक एक Data Component है।  Data जो IP Packet में है यह Transmit होता है। 



IP Address क्या है?



IP Address एक Unique Address होता है। IP Address हमें Allow करता है कि हम दूसरे कोई Device से नेटवर्क के थ्रू कम्युनिकेट कर सके। 



हमने IP Address क्या है इस Article में IP Address के बारेमे IP Address के बारेमे Complete Information Provide की है। 



Differences between IPv4 and IPv6 in Hindi 

(IPv4 और IPv6 के बीच अंतर)


IPv4


Internet के लिए सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला IP - Internet Protocol Version 4 (IPv4) है।IPv4 , four sections के साथ एक 32-बिट IP Addressing System प्रदान करता है। Example के लिए, एक Sample IPv4 पता 192.168.0.1 जैसा दिख सकता है, जो Consumer Router के लिए Default IPv4 Address है। IPv4 कुल 4,294,967,296 Addresses का Support करता है।



IPv6



इसके विपरीत, IPv6 128-बिट Address Space को परिभाषित करता है, जो 340 trillion IP Addresses के साथ IPv4 की तुलना में बहुत अधिक Space प्रदान करता है। IPv6 Address के Eight Section हैं। IPv6 Address का Text Form xxxx: xxxx: xxxx: xxxx: xxxx: xxxx: xxxx: xxxx है, जहां प्रत्येक x एक Hexadecimal अंक है, जो 4 Bit को Represent करता है।



Availability of Address Space IPv6 का पहला लाभ और इसका सबसे स्पष्ट प्रभाव है। हालाँकि, IPv6 की चुनौतियाँ यह हैं कि यह अपने बड़े Address Space के कारण Complex है और अक्सर Network Administrators के लिए Monitor और Manage के लिए एक चुनौती है।



Conclusion



हमें उम्मीद है की आपको यह Post - Internet Protocol क्या है? | What is Internet Protocol in Hindi पूरी तरह से समज में आया होगा और हमें यकीन है की आपको इस Article को पढ़कर काफी जानकारी भी मिली होगी.



यदि आपको हमारा यह लेख Internet Protocol क्या है? | What is Internet Protocol in Hindi पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. जिससे वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और यह जान सके.



अगर आप What is Internet Protocol जैसे ओर Topic के बारेमे जानना चाहते है तो Notification Allow जरूर करदे। ताकि ऐसी Information आपको Daily मिलती रहे।



Also Read This

Post a Comment

0 Comments