IP Spoofing kya hai और IP Spoofing से कैसे बचे ??? | What is IP Spoofing in Hindi

आपका Technovichar.com में स्वागत है। इस Article का Topic है IP Spoofing kya hai और IP Spoofing से कैसे बचे ???|What is IP Spoofing in Hindi। यह Article Totally IP Spoofing पर Base है। तो चलिए शुरू करते है।


IP Spoofing kya hai and Working of IP Spoofing in Hindi


Page Content 


Definition of IP Spoofing 

IP Spoofing kya hai ???(What is IP Spoofing in Hindi)

DDOS Attack क्या है ??(What is DDOS Attack in Hindi) 

IP Spoofing के नुकशान 

IP Spoofing के फायदे 

IP Spoofing से कैसे बचे ???

Conclusion


Definition of IP Spoofing 


IP Spoofing और IP Address Spoofing एक ऐसी Technique है जिससे Source Computer के IP Address को Change करके Different IP Address लगाके  IP Packets का निर्माण किया जाता है। जिसे IP Spoofing कहते है। 



IP Spoofing kya hai ???

(What is IP Spoofing in Hindi)



Internet Network में Data Transfer करने के लिए IP (Internet Protocol ) का Use होता है। इस IP Packets के Header में Sender और Destination  के IP Address की Details भी Store होती है। Attackers द्वारा Header में मौजूद IP की Details को Change करके उसे victim की  IP में बदल देता है। अब Source IP Address Victim का होने से Response User को नहीं बल्कि Victim को जाता है।



यानिकि User ने Request की थी और Response Victim को जा रहा है इसे ही IP Spoofing कहते है।  Source IP Address  Region , City , Town जैसे कुछ Information Provide करता है। इस Information में कोई खास Information नहीं होती है जिससे Source IP की Identity हो सके। IP Spoofing का Use करके DDOS Attack और Man-in-the-Middle Attack किया जाता है।


Working_of_IP_Spoofing_in_Hindi



DDOS Attack क्या है ??

(What is DDOS Attack in Hindi) 



DDOS का फुल फॉर्म है Distributed Denial of Service।  DDOS Attack में Attacker बहुत सारि IP को Spoof करता है यानिकि बहुत सारे Packets में Source IP Address को Change करके Server के पास भेजता है जिससे Server Identify नहीं कर सकता की यह Request Real है या फिर Feak , और ऐसी बहुत सारि Request आने पर Server Crash हो जाता है। 



DDOS Attack में Attacker किसी भी Random IP ( Victim IP ) का Use करके Same Request भेजता है। इस Case में Server Request Handle नहीं कर पहेगा  और Identify भी नहीं कर पायेगा क्योकि Source Address हर बार Different होती है। इस प्रकार से DDOS Attack काम करता है। 



Man-in-the-Middle Attack क्या है ??

(What is MITM Attack in Hindi)



इस Type के Attack में Attacker Victim की IP को Spoof करता है जिससे Server से जो Response आता है यह Victim को आता है जिससे Victim भी Confuse हो जाता है क्योकि Victim ने तो कोई Request ही नहीं भेजी जिससे Victim भी Flood हो जायेगा। यह भी IP Spoofing की एक Application है। 



IP Spoofing के नुकशान 


  • Hacker / Attacker Easily Authentication Process को Bypass कर सकते है। 
  • Data / Information की चोरी की जा सकती है। 
  • Hacker IP Spoofing की मदद से किसी Company के Only One Computer की Spoofing करके पूरी Company के Server में Entry कर सकते है। 



IP Spoofing के फायदे 



IP Spoofing के नुकशान ज्यादा है क्यों की इस प्रकार की Technique ज्यादातर नुकशान करने के लिए बनाई जाती है। IP Spoofing का फायदा यह है की IP Spoofing की मदद से Server Testing की जा सकती है की Server कितनी Request को Handle कर सकते है और कितनी Speed में Response देता है इस प्रकार Testing Purpose से IP Spoofing का Use होता है। 



IP Spoofing से कैसे बचे ???




Packet Filter System का Use करके 


ये System से यह पता लगा जा सकता है की कोई भी Unknown IP Address Network में आया है या नहीं और इसे Network में घुसने से  रोका जा सकता है। 


Network में Verification Method को Implement करने से IP Spoofing से बच सकते है। 


Spoofing Detection Software का Use करके इसे रोका जा सकता है। 


HTTPS और SSL , Secure Network का Use करना चाहिए। 


यह सब Method का Use करके IP Spoofing को कुछ हद तक रोका जा सकता है। 



Conclusion 



हमें उम्मीद है की आपको आज का हमारा यह यानी IP Spoofing kya hai और IP Spoofing से कैसे बचे ??? | What is IP Spoofing in Hindi  पूरी तरह से समज में आया होगा और मुझे यकीन है की आपको इस Article को पढ़कर काफी जानकारी भी मिली होगी.


यदि आपको हमारा यह लेख  IP Spoofing kya hai और IP Spoofing से कैसे बचे ??? | What is IP Spoofing in Hindi पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. जिससे वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और यह जान सके.


मुझे यकीन है की अब तक आपने यह लेख  IP Spoofing kya hai और IP Spoofing से कैसे बचे ??? | What is IP Spoofing in Hindi  शेयर भी कर दिया होगा. हमारी हंमेशा से ही यह कोशिश रहती है की हम हमारे Readers को एकदम सही और सटीक जानकरी प्रदान करे. ताकि आप लोगो को  इन्टरनेट पर कही और जा कर Search करने की जरुरत न पड़े और आपका समय भी बच सके.



अगर अभी भी आपके मन में  IP Spoofing kya hai और IP Spoofing से कैसे बचे ??? | What is IP Spoofing in Hindi इसके बारे में कोई सवाल या डाउट है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताये. हम आपको जानकारी देने की पूरी कोशिश करेंगे.

Post a Comment

0 Comments