Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi | Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ??

Technovichar.com में आपका स्वागत है। इस Article का Main Topic है Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi | Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ?? । अगर आप एक Programming Background से आ रहे है तो आपने कहीना कही यह दो Word तो सुने ही होंगे। वैसे तो Compiler and Interpreter दोनों ही language  translators है।  पर Compiler और Interpreter का Difference जानने से पहले हम यह दोनों Term का Meaning अच्छे से समज लेते है की Actual में इन दोनों का Meaning क्या है और फिर Compiler और Interpreter में क्या Difference होता है यह समझेंगे। तो चलिए सुरु करते है। 


Compiler_and_Interpreter_Difference_in_hindi


Page Content


Compiler क्या है ??(What is Compiler in Hindi)

Example of How Compiler Work ???(Compiler कैसे काम करता है ??)

Linker क्या है ??(What is Linker in Hindi)

Loader क्या है ???(What is Loader in Hindi)

Interpreter क्या है ???(What is Interpreter in Hindi)

Example of How Interpreter Work ???(Interpreter कैसे काम करता है ??)

Assembler क्या है ???(What is Assembler in Hindi)

Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi(Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ??)

Conclusion


वैसे तो Total Three language Translator है। 


1) Compiler 

2) Assembler 

3) Interpreter 



Compiler क्या है ??

(What is Compiler in Hindi)



Computer Programming में Two Types की Language होती है। 


Low Level Programming Language - Assembly language 

High Level Programming Language - C , C ++ , Java , Python 



हमारा Computer Only Binary यानिकि 0 और 1 की Language को समजता है। अगर आप Computer Language Or Machine Language में कोई Code या Program लिखते है तो Computer आसानी से समज सकता है पर अगर आपने Assembly याफिर High Level Programming language का Use किया है तो Computer यह नहीं समज सकता । Compiler का Use High Level Programming language को Machine Level language में Convert करने के लिए होता है।  


Compiler जब भी कोई Code को Run करता है तब Hole यानिकि पुरे Source Code को Executable file में Covert करता है।और फिर Output देता है। Compiler Line By Line Work नहीं करता है। ऐसे Compiler Source code को Machine code में Covert करता है। Compiler पुरे Program को Run करके बाद में Output देता है। इस लिए अगर आपके Program में कोई एक Sentence  Error है तो भी Compiler  पुरे Program को Run करेगा और Output देने से पहले Error Show करेगा। C , C ++ Programs में कम्पाइलर का Use होता है। 



Example of How Compiler Work ???

(Compiler कैसे काम करता है ??)


जबभी हम कोई .c  Code लिखके Save करके इसे Execute करते हे तो एक Object Code File Generate होती है। अब जबभी User यह Program को run करता है तो यह Object Code File की आवस्यकता होती है। यानिकि Source Code File की जरूरत नहीं पड़ती है। इस Concept पर Compiler Work करता है।  


What_is_Compiler_and_How_Compiler_Work_in_hindi



Linker क्या है ??

(What is Linker in Hindi)


Linker का काम Compiler से Generate Obj File को Exe File में Convert करना होता है। Compiler में Output Generate करने यानिकि Exe File Generate करने के लिए Linker की जरुरत पड़ती है। 



Loader क्या है ???

(What is Loader in Hindi)


Loader का काम Exe File को Ram में रखके यानिकि Load करके इसे Run करवाता है। इस Process में भी कभी कभी Error आ सकती है जिसे Run Time Error भी कहते है। Loader भी Compiler में Use होता है। 



Interpreter क्या है ???

(What is Interpreter in Hindi)


Interpreter और Compiler का काम Same ही है पर दोनों की Working Different है। Interpreter जबभी कोई Program को Run करता है तो यह Program को  Line By Line Execute करता है और Output देता है। अगर आपके कोई एक भी Sentence में Error होगी तो Interpreter आगे Program को Run नहीं करेगा वही पर Error Show कर देगा। 


What_is_Interpreter_and_How_Interpreter_Work_in_Hindi



Interpreter में Run होने वाले Program की कोई Object Code file नहीं बनती है।  Interpreter Line By Line code को Execute करता है जिससे Debugging / Error Finding Process Fast हो जाती है। अगर अपने Python , Ruby जैसी Programming language में Programming की है तो आप Interpreter से परिचित होंगे। इस प्रकार की Programming language में Interpreter का Use होता है । 



Example of How Interpreter Work ???

(Interpreter कैसे काम करता है ??)


जबभी कोई User Python या Ruby जैसी Programming language का Use करके Program बनाता  है और इस Program को Execute करता है तब Interpreter Source Code की एक एक Line Check करता है और Output देता है। यानिकि Interpreter में हर बार Source Code की जरूरत पड़ती है। इस Concept पर Interpreter Work करता है। 



Assembler क्या है ???

(What is Assembler in Hindi)


Assembler , Assembly Language पर काम करता है। यह Low Level Language को Object Code में Convert करता है। जैसे Compiler and Interpreter High Level Language को ही समजता है ऐसे Assembler Low Level Language को  समजके Machine Level Language में Covert करता है। 




Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi

(Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ??)




Compiler Interpreter
Compiler Entire Program को Scan करके Machine Code में Translate करता है। Interpreter Line By Line Program को Scan करता है and Machine Code में Translate करता है।
Compiler , Error और Warning को One Time Show करता है। Interpreter , एक Error को एक ही Time पे Show करता है।
Compiler में Error पूरा Program Scan करने के बाद मिलती है। Interpreter में Error ,One Line Scan करने के बाद मिलती है।
Compiler में Debugging Process Slow होती है। Interpreter में Debugging Process Fast होती है।
Compiler में Execution Time Less होता है। Interpreter में Execution Time ज्यादा होता है।
Compiler ,C , C ++ ,  जैसी Programming Language में Use होता है। Interpreter Python , Ruby जैसे Programming Language में Use होता है ।


तो यह था कुछ Basic Difference Between Compiler and Interpreter।



Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi






Conclusion



हमें उम्मीद है की आपको आज का हमारा यह यानी Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi | Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ??  पूरी तरह से समज में आया होगा और मुझे यकीन है की आपको इस Article को पढ़कर काफी जानकारी भी मिली होगी.


यदि आपको हमारा यह लेख  Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi | Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ??  पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे. जिससे वह लोग भी इस जानकारी का फायदा उठा सके और यह जान सके.



मुझे यकीन है की अब तक आपने यह लेख  Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi | Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ??   शेयर भी कर दिया होगा. हमारी हंमेशा से ही यह कोशिश रहती है की हम हमारे Readers को एकदम सही और सटीक जानकरी प्रदान करे. ताकि आप लोगो को  इन्टरनेट पर कही और जा कर Search करने की जरुरत न पड़े और आपका समय भी बच सके.



अगर अभी भी आपके मन में  Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi | Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ??  इसके बारे में कोई सवाल या डाउट है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताये. हम आपको जानकारी देने की पूरी कोशिश करेंगे.


Maintag: Compiler क्या है ??(What is Compiler in Hindi),Example of How Compiler Work ???(Compiler कैसे काम करता है ??),Linker क्या है ??(What is Linker in Hindi),Loader क्या है ???(What is Loader in Hindi),Interpreter क्या है ???(What is Interpreter in Hindi),Example of How Interpreter Work ???(Interpreter कैसे काम करता है ??),Assembler क्या है ???(What is Assembler in Hindi),Difference Between Compiler and Interpreter in Hindi(Compiler और Interpreter में क्या अंतर है ??)

Post a Comment

0 Comments