साइबर सुरक्षा क्या है? - What is Cyber security in hindi

नमस्कार आपका  Technovichar.com  में स्वागत है। अगर आप Hacking में इंटरेस्ट रखते हो तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही फायदे मंद होने वाला है। इस आर्टिकल का टॉपिक है साइबर सुरक्षा क्या है - What is Cyber Security in hindi और सायबर सुरक्षा के प्रकार और सायबर सुरक्षा इतनी महत्व पूर्ण क्यों है । 


What_is_Cyber_Security



Page Content :


what is cyber security simple definition

Types of Cyber Security

साइबर सुरक्षा खतरों के प्रकार

Benefits of Cyber Security

Conclusion 



साइबर सुरक्षा क्या है?

(what is Cyber security simple definition)



साइबर सुरक्षा कंप्यूटर सिस्टम, मोबाइल डिवाइस, नेटवर्क, कार्यक्रम और साइबर हमलों से जानकारी की रक्षा करने का अभ्यास है।आज कल सभी Computer और Smart Phones का use कर रहे है। इस दौर में कही ना कही हमारे स्मार्ट फ़ोन और Computer इंटरनेट से यानिकि Network से जुड़े हुए है। जिस स्तर पर Internet का इस्तेमाल पूरी दुनिया में किया जा रहा है और प्रतिदिन लाखो की संख्या में User उसका Use कर रहे है तो ऐसे समय में User के Device की Security पर ध्यान दिया जाना चाहिए । क्योकि Hacking , Virus Attack , Data leak , Fraud के शिकार बनते लोगो को आपने  देखा ही होगा। इन Cyber Crimes से users को  बचाने  के लिए  Cyber Security का Use किया जाता है। 

साइबर सुरक्षा से डाटा को सुरक्षित किया  जाता है ताकि डेटा किसी भी तरह से चोरी न हो और सभी दस्तावेज और फाइलें सुरक्षित हों । महान कंप्यूटर तकनीशियन और प्रशिक्षित लोग इस तरह के काम करने में सक्षम होते है।


साइबर सुरक्षा के प्रकार 

(Types of Cyber Security):

 

1) डेटा सुरक्षा:


आज की पीढ़ी के लिए आंकड़े बहुत महत्वपूर्ण हैं। डेटा सुरक्षा का अर्थ है कंपनी और ग्राहक डेटा की सुरक्षा करना।

 

2) नेटवर्क सुरक्षा:


यह कंप्यूटर नेटवर्क को अवांछित उपयोगकर्ताओं और हमलों से बचाने का अभ्यास है।

 

3) क्लाउड सुरक्षा:


यह क्लाउड में डेटा प्राप्त करने के लिए एक प्रक्रिया है।

 

4) आवेदन सुरक्षा:



नियमित रूप से आवेदन को अपडेट कर सिस्टम को धागों से बचाने की प्रक्रिया।

 

5) IoT (इंटरनेट ऑफ थिंग्स) सुरक्षा:



इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) इंटरनेट के माध्यम से अन्य उपकरणों और कार्यक्रमों के साथ डेटा को जोड़ने और आदान-प्रदान करने के उद्देश्य से आभासी वास्तविकता (वस्तुओं), सेंसर, सॉफ्टवेयर और अन्य प्रौद्योगिकियों) के नेटवर्क को परिभाषित करता है। वे खतरे में हैं इसलिए हमें हैकिंग से खुद को बचाना चाहिए ।

 

6) स्वामित्व प्रबंधन:


प्रौद्योगिकी कंपनियों जैसी किसी विशेष संपत्ति तक व्यक्तिगत पहुंच की सुरक्षा।

 

7) भंडारण सुरक्षा:


रिमोट एक्सेस बिजनेस का जरूरी हिस्सा है, लेकिन यह डेटा का कमजोर एरिया भी हो सकता है । प्रक्रिया सुरक्षा एक कंपनी नेटवर्क के लिए दूरदराज के उपयोग की रक्षा की प्रक्रिया है ।


 

साइबर सुरक्षा इतनी महत्वपूर्ण क्यों है?



आज की दुनिया में इंटरनेट से जुड़ी हर चीज जैसे पेमेंट, बैंकिंग डिटेल्स, पर्सनल इन्फॉर्मेशन, कंपनी डिटेल्स आदि। हमें उन्हें साइबर खतरों से बचाना चाहिए ।



Types of cyber security threats

(साइबर सुरक्षा खतरों के प्रकार) :


 
1) संवेदनशील जानकारी की चोरी:


            
संवेदनशील जानकारी की चोरी ऐसे सम्मानित स्रोतों से ईमेल के रूप में अवांछित ईमेल भेजने का अभ्यास है। इसका मकसद संवेदनशील डेटा जैसे क्रेडिट कार्ड नंबर और लॉगिन की जानकारी चुराना है।

यह साइबर हमले का सबसे आम प्रकार है। आप अपने आप को शिक्षा या एक प्रौद्योगिकी समाधान है कि बुरा ईमेल फिल्टर के साथ की रक्षा में मदद कर सकते हैं ।

 

2) मैलवेयर (Malware):

            

मैलवेयर का मतलब दुर्भावनापूर्ण सॉफ्टवेयर होता है। सबसे आम साइबर खतरों में से एक, मैलवेयर एक व्यक्ति द्वारा बनाया गया सॉफ्टवेयर है जो एक वैध उपयोगकर्ता के कंप्यूटर को हैक या नुकसान पहुंचाने के लिए साइबर अपराधी या हैकर का उपयोग करता है। 

अक्सर अवांछित ईमेल अटैचमेंट या डाउनलोड के माध्यम से फैलता है जो वैध दिखते हैं, मैलवेयर का उपयोग साइबर निर्माताओं द्वारा पैसा या राजनीति से प्रेरित साइबर हमलों को बनाने के लिए किया जा सकता है ।

 

मैलवेयर के प्रकार (Types of Malware):


1. Ransomware :


Ransomware दुर्भावनापूर्ण सॉफ्टवेयर का एक प्रकार है। इसमें फिरौती का भुगतान किया जाता है। जब तक फ़ाइलों या कंप्यूटर सिस्टम के लिए उपयोग अवरुद्ध द्वारा पैसे ठग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है । फिरौती का भुगतान करने से यह गारंटी नहीं मिलती है कि फाइलें बरामद की जाएंगी या नहीं ।

 

2. वायरस:


अब आपके मनमे एक प्रश्न हो रहा होगा की वायरस क्या है (What is Virus in Cyber Security)। कंप्यूटर वायरस एक दुर्भावनापूर्ण सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है जिसे उपयोगकर्ता के ज्ञान के बिना उपयोगकर्ता के कंप्यूटर पर डाउनलोड किया जाता है और दुर्भावनापूर्ण कार्रवाई करता है। 

यह उन्हें डुप्लिकेट कर सकता है, उन्हें अन्य कार्यक्रमों या फ़ाइलों में जोड़ सकता है, और इस प्रक्रिया में उन्हें संक्रमित कर सकता है।

 

3. ट्रोजन:


आधिकारिक सॉफ़्टवेयर के समान मैलवेयर का एक प्रकार। साइबर अपराधी उपयोगकर्ताओं को अपने कंप्यूटर पर ट्रोजन डाउनलोड करने में धोखा देते हैं जहां वे नुकसान या डेटा का कारण बनते हैं।

 

4. स्पाइवेयर:


स्पाईवेयर अवांछित सॉफ़्टवेयर है जो आपके कंप्यूटर को संक्रमित करता है, आपके इंटरनेट उपयोग डेटा और संवेदनशील जानकारी चुराता है।

 

5. एडवेयर (विज्ञापन सॉफ्टवेयर):


इसका उपयोग आपके कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस पर दिखाई देने वाले विभिन्न विज्ञापनों के लिए किया जाता है। एंडवेयर आपके ब्राउज़र को धीमा करके वायरस दाखिल करता है। 
 

6. बॉट्स:


मैलवेयर से संक्रमित नेटवर्क साइबर अपराधियों द्वारा उपयोगकर्ता की सहमति के बिना ऑनलाइन गतिविधियों को करने के लिए उपयोग किया जाता है ।



साइबर सुरक्षा के लाभ 

(Benefits of Cyber Security)



why is cyber security important (साइबर सुरक्षा क्यों जरुरी है) ,साइबर सुरक्षा के लाभ बेहिसाब हैं । अब हम कुछ साइबर सुरक्षा के फायदों के बारे में बताते हैं ।

1) साइबर सुरक्षा आपको साइबर क्राइम से बचाती है।

2) यह साइबर क्रिमिनल नेटवर्क से जुड़े आपके डिवाइस की सुरक्षा भी करता है।

3) साइबर सुरक्षा आपके व्यक्तिगत और व्यावसायिक डेटा और जानकारी को चोरी से बचाती है।

4) फालतू  के विज्ञापन से आपको दूर रखता है।

5) यह आपके कंप्यूटर और मोबाइल गतिविधि को अस्वीकार नहीं करने देता है।

6) यह आपके प्रशासन की गरिमा को बरकरार रखता है।

7) आपके कंप्यूटर और मोबाइल फोन की सुरक्षा को मजबूत करता है।

8) इससे मैनेजर स्टाफ का कार्यभार कम हो जाता है।


Conclusion :


तो यह थी साइबर सुरक्षा क्या है - What is cyber security in hindi ,साइबर सुरक्षा के प्रकार और साइबर सुरक्षा के लाभ की जानकारी अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करे। और अपनी विषेस टिप्पणी कमेंट में जरूर दे। 


Also Read This

Post a Comment

2 Comments